NEET 2020 : इन बड़े बदलावों के साथ होगी परीक्षा, नोटिफिकेशन जारी

EDUCATION EXAM RESULTS
राष्ट्रीय प्रवेश सह पात्रता परीक्षा (National Eligibility cum Entrance Test – NEET 2020) के लिए आवेदन की प्रक्रिया आज, 2 दिसंबर 2019 से शुरू हो रही है। यह परीक्षा देश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस और डेंटल कोर्सेज (MBBS and BDS courses) में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। इस परीक्षा के लिए राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA – National Testing Agency) ने आधिकारिक अधिसूचना (NEET official notification) जारी कर दी है। आप एनटीए नीट (NTA NEET) की आधिकारिक वेबसाइट से रजिस्ट्रेशन लिंक पा सकते हैं। इसके अलावा आगे इस खबर में भी आवेदन व अधिसूचना के डायरेक्ट लिंक मिल जाएंगे।

इस बार कुछ बड़े बदलावों के साथ परीक्षा ली जा रही है।

क्या होंगे बदलाव

राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग कानून (National Medical Commission Act 2019) के अनुसार, अब एम्स, जिपमर (AIIMS, JIPMER) समेत देश के सभी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस व बीडीएस कोर्सेज में दाखिला नीट के जरिए ही लिया जाएगा। नीट 2020 का आयोजन हिन्दी व अंग्रेजी समेत कुल 11 भाषाओं में किया जाएगा।

बता दें कि नीट 2019 में देश के अलग-अलग हिस्सों से कई गड़बड़ियों की खबर मिलने के बाद इस बार इस परीक्षा में कुछ जरूरी बदलाव किए जाने की संभावनाएं जताई जा रही हैं।

कहा जा रहा है कि इस बार नीट में सुरक्षा व्यवस्था बेहद सख्त होगी। आवेदन भरने के समय छात्रों से लाइव फोटो अपलोड कराई जा सकती है। इसके साथ ही पहले से निश्चित दस्तावेजों के अलावा अन्य की भी जरूरत हो सकती है। इस संबंध में विस्तृत जानकारी एटीए द्वारा जारी इनफॉर्मेशन बुलेटिन से पा सकते हैं।

एनटीए के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, पहली बार डिजिटल बायोमेट्रिक शुरू किया जा रहा है। इसका मकसद मुन्नाभाइयों पर नकेल कसना है। इसके अलावा आवेदन पत्र में इस बार लाइव फोटो अपलोड करना होगा।

ऐसा रहेगा शेड्यूल?

हालांकि एनटीए द्वारा अन्य कई परीक्षाओं के साथ-साथ नीट का संभावित शेड्यूल भी कुछ समय पहले जारी किया जा चुका है। इसके अनुसार, नीट यूजी के लिए एडमिट कार्ड डाउनलोड करने का मौका छात्रों को 27 मार्च  2020 से दिया जाएगा। परीक्षा 3 मई 2020 को होगी। परीक्षा के परिणाम करीब एक महीने बाद 4 जून 2020 को जारी किए जाएंगे।

यह परीक्षा ओएमआर शीट आधारित होगी, यानी पेन-पेपर मोड पर। नीट के स्कोर को परसेंटाइल स्कोर के रूप में बदलकर सार्वजनिक किया जाएगा।

अगले शैक्षणिक सत्र से एम्स और जिपमर समेत अन्य सभी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस व बीडीएस कोर्सेज में दाखिले के लिए नीट अनिवार्य किया जा चुका है। पहले एम्स और जिपमर अलग से प्रवेश परीक्षा आयोजित करते थे। सिर्फ परीक्षा ही नहीं, दोनों कोर्सेज में काउंसलिंग भी एक साथ ही आयोजित की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *