bazar

सोमवार को बंद है शेयर बाजार में कारोबार, ये है वजह

GADGET TECH KNOWLEDGE

0सप्‍ताह के पहले दिन सोमवार को ईद-उल-अजहा यानी बकरीद के मौके पर शेयर बाजार में कारोबार नहीं हुआ. अब मंगलवार यानी कल शेयर बाजार खुलेंगे.

घरेलू शेयर बाजार स्वतंत्रता दिवस के मौके पर गुरुवार (15 अगस्त) को भी बंद रहेंगे. इस लिहाज से 5 कारोबारी दिन में से सिर्फ 3 दिन शेयर बाजार खुले रहेंगे.

इस हफ्ते ये फैक्‍टर करेंगे काम

इस हफ्ते बाजार की चाल आर्थिक आंकड़ों के अलावा प्रमुख कंपनियों के चालू वित्त वर्ष की जून तिमाही के नतीजों पर निर्भर करेगी. इस हफ्ते जिन बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजे जारी होंगे, उनमें ओएनजीसी, कोल इंडिया और सन फार्मास्यूटिकल अपने जून तिमाही के नतीजों की घोषणा मंगलवार (13 अगस्त) को करेंगे. ग्रासिम इंडस्ट्रीज अपनी जून तिमाही नतीजों की घोषणा बुधवार (14 अगस्त) को करेगी.

वहीं जुलाई 2019 के महंगाई के आंकड़ों की घोषणा भी इस हफ्ते होने वाली है. अगर बात करें अन्‍य कारणों की तो मॉनसून की प्रगति, वैश्विक बाजारों के रुख, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) और घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) द्वारा किए गए निवेश भी शेयर बाजार को प्रभावित करेंगे.

बीते हफ्ते ऐसी रही बाजार की चाल

अगर बीते सप्ताह की बात करें तो सेंसेक्स 463.69 अंकों या 1.24 फीसदी की तेजी के साथ 37,581.91 पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी 112.30 अंकों या 1.02 फीसदी की तेजी के साथ 11,109.65 पर पहुंच गया. इसी के साथ पिछले चार सप्ताह से जारी गिरावट थम गई. हालांकि बीते सप्‍ताह सोमवार को बाजार की नकारात्मक शुरुआत हुई.

दरअसल, भारत सरकार ने जम्मू एवं कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त कर दिया. इस वजह से अनिश्चिताओं और आशंकाओं के बीच निवेशकों में भय व्याप्त हो गया, जिससे शेयर बाजार में गिरावट का दौर रहा.  मंगलवार को तेजी रही लेकिन बुधवार को तेज उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहा और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा देश की विकास दर का अनुमान घटाकर 7 फीसदी से 6.9 फीसदी करने के कारण बाजार गिरावट के साथ बंद हुए.

गुरुवार से बढ़ी रौनक

हालांकि गुरुवार को मीडिया में ऐसी खबरें आई कि सरकार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) पर लागू की गई उच्च कर की दर को वापस ले सकती है, जिसके बाद बाजार में रौनक आई. बीते सप्ताह सेंसेक्स के तेजी वाले शेयरों में प्रमुख रहे – भारती एयरटेल (8.09 फीसदी), एचसीएल टेक्नॉलजी (7.49 फीसदी), मारुति (7.18 फीसदी), हिन्दुस्तान यूनीलीवर (5.89 फीसदी) और बजाज फाइनेंस (5.51 फीसदी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *